बुधवार, 25 सितंबर 2013

उक्ति - 11

विद्वानों, बड़ों का सम्‍मान उनकी जीवनोपयोगी बातों और सिद्धान्‍तों को सदैव व्‍यवहार में बनाए रखने से होता है ना कि तुच्‍छ स्‍वार्थों की पूर्ति हेतु चापलूसों की तरह उनके आगे-पीछे घूमने और मण्‍डराने से।  

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सारगर्भित जीवनोपयोगी उक्ति,धन्यबाद आपका।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिलकुल सम्मान दिल में होना चाहिए दिखावे में नहीं ...

    उत्तर देंहटाएं