सोमवार, 30 सितंबर 2013

उक्ति - 15

किसी के प्रति आकर्षित होने से पहले लाख बार सोचना चाहिए क्‍योंकि कालान्‍तर में वह हमारी दृष्टि को खटक भी सकता है।

7 टिप्‍पणियां:

  1. लेकिन आकर्षण में बुद्धि घाँस चरने चली जाती है :-)

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिल्कुल सही..लेकिन आकर्षित होते वक्त सबसे पहले हमारा इस संबंधी विवेक ही मारा जाता है...

    उत्तर देंहटाएं
  3. एक उक्ति मुझे भी याद आ रही है- "रोशनी की गति ध्वनि से तीव्र होती है..शायद इसलिये कुछ लोग तब तक ही समझदार नज़र आते हैं जब तक वे अपना मूंह नहीं खोलते।"

    उत्तर देंहटाएं