सोमवार, 24 फ़रवरी 2014

उक्ति - 39

कुतर्क अंतहीन होते हैं और तर्क में वाद-विवाद की जरूरत नहीं पड़ती।

5 टिप्‍पणियां: