सोमवार, 28 अप्रैल 2014

उक्ति - 46

लोग अपनी हरेक बात के अच्‍छे-बुरे पक्ष से परिचित नहीं होते। यह भी कम ही होता है कि प्रत्‍येक व्‍यक्ति द्वारा हर बार अच्‍छी ही बात कही जाए। इसीलिए अच्‍छी बातों के कम व बुरी बातों के अधिक प्रसार के कारण लोगों के बीच जो परस्‍पर विमर्श होता है उससे सद्भावना के बजाय मतभेद अधिक उत्‍पन्‍न होते हैं।

4 टिप्‍पणियां:

  1. च्‍छी बातों के कम व बुरी बातों के अधिक प्रसार के कारण लोगों के बीच जो परस्‍पर विमर्श होता है उससे सद्भावना के बजाय मतभेद अधिक उत्‍पन्‍न होते हैं।

    बहुत उम्दा।।

    उत्तर देंहटाएं