बुधवार, 18 जून 2014

उक्ति - 49

जिस प्रकार मूर्ख की गम्‍भीरता उसे सम्‍माननीय बना सकती है, उसी प्रकार विद्वान की अति विनोदप्रियता उसे असम्‍माननीय बना सकती है।

5 टिप्‍पणियां: